Friday, 27 April 2018

28 April 2018 Special : जानिए नरसिंह जयंती की पूजा विधि, मुहूर्त और महत्व



संदीप कुमार  मिश्र:  आस्था और विश्वास के देश भारत में नरसिंह जयंती, वैशाख माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी तिथि को मनाई जाती है।ऐसा धर्म शास्त्रों में कहा गया है कि भगवान नरसिंहविष्णु भगवान के चौथे अवतार थे।जिनके द्वारा महान दैत्य हिरण्याकश्यपू का अंत हुआ था। कहते हैं कि इसी दिन भगवान विष्णु ने नरसिंह अवतार (आधा मनुष्य और आधा शेर) धारण किया था।

नरसिंह जयंती का शुभ मुहूर्त
मध्याह्न संकल्प का शुभ मुहूर्त = 11:00 से 13:37
नरसिंह जयंती में सायंकाल पूजन का समय = 16:13 to 18:50
पूजा की अवधि = 2 घंटा 36 मिनट
29th अप्रैल 2018,
रविवार को नरसिंह जयंती व्रत के पारण का समय = प्रातः 06:37 बजे के बाद।
29th अप्रैल 2018 को चतुर्दशी तिथि के समापन का समय = 06:37
चतुर्दशी तिथि का प्रारंभ 28th अप्रैल 2018, शनिवार 07:12 बजे होगा।
जिसका समापन 29th अप्रैल 2018, रविवार 06:37 पर होगा।

नरसिंह जयंती पर व्रत महिमा :-
इस बार 28 अप्रैल 2018 को पड़ने वाली नरसिंह जयंती स्वाति नक्षत्र और शनिवार के दिन पड़ने से वैशाख के शुक्ल की चतुर्दशी व्रत के लिए अत्यंत शुभ मानी जा रही है। इस व्रत को करने के लिए खास नियमों का पालन किया जाता है। इस दिन व्रती नरसिंह जयंती से एक दिन  केवल एक बार भोजन करते हैं और व्रत के दौरान वे किसी भी तरह के अन्न का सेवन नहीं कर सकते। व्रत का पारण अगले दिन उचित मुहूर्त देखकर ही करने का विधान होता है।
नरसिंह जयंती के दिन लोग मध्याह्न में संकल्प लेकर संध्या में भगवान नरसिंह का पूजन करते है।क्योंकि कहते हैं भगवान नरसिंह सूर्यास्त के समय ही चतुर्दशी तिथि प्रबल होने पर ही अवतरित हुए थे ।