Friday, 30 June 2017

एक शिवलिंग ऐसा जिसमें है लाखों छिद्र

1-  

संदीप कुमार मिश्र:  हमारे देश भारत में भगवान शिव के कई शिवलिंग और मंदिर है।जहां भक्त अपने आराघ्य देव को प्रसन्न करने और मनोकामना पूर्ति के लिए आते हैं और पूजा अर्चना करते हैं।लेकिन आज हम आपको बताएंगे एक ऐसे मंदिर के बारे में...जहां है एक दुर्लभ शिवलिंग...आईए जानते है आदि देव महादेव के उस अद्भुत शिवलिंग के बारे में...जिसके दर्शन मात्र से मनुष्य की हो जाती है सभी मनोकामनाएं पूरी...छत्तीसगढ़ के खरौद नगर में है लक्ष्मणेश्वर महादेव मंदिर...जिसके गर्भगृह में है...एक दुर्लभ शिवलिंग स्थापित...।
दरअसल इस शिवलिंग में तकरीबन एक लाख छिद्र है।ऐसा कहा जाता है कि इन छिद्रों से से एक छिद्र ऐसा भी है जिसका रास्ता पाताल तक जाता हैं।इतना ही नहीं इस मंदिर को छत्तीसगढ़ की काशी कहा जाता है...।

हिन्दू धर्म शास्त्रों में वर्णित एक कथा के अनुसार जब रावण का वध करने के बाद राम ने ब्राहम्ण हत्या से मुक्ति पाने के लिए रामेश्वलिंग की स्थापना की तब उन्होंने लक्ष्मण को सभी तीर्थो का जल लाने को भेजा।लेकिन जब लक्ष्मण गुप्त तीर्थ शिवरीनारायण का पवित्र जल लेकर अयोध्या जा रहे थे तभी रास्ते में उनकी तबियत खराब हो गई...जब स्वस्थ होने के लिए लक्ष्मण जी ने भगवान भोले भंडारी...आदिदेव महादेव...शिव जी की अराधना की तो शिव जी वहां उपस्थित हुए और शिवलिंग के रूप में स्थापित हो गए...।
उसी समय से यह मान्यता चली आ रही है कि जो भी भक्त इस शिवलिंग की पूजा-दर्शन और वंदन कर लेता है  उसके सभी प्रकार रोग शोक खत्म हो जाते हैं और इंसान ब्रह्म हत्या के पाप से मुक्त हो जाता है....।।ऊं नम: शिवाय।।